Two Verses in Hindi

हमारे मेहनती प्रधान मंत्री.

कितना काम करते हैं हमारे प्रधान मंत्री जी,
विदेशों के दौरों में कितनी लेते हैं वह सेल्फी.
देश में रहते हुए बेचते हैं ये असम की चाय,
इनकी प्रतिभाओं से कैसे न कोई गुण गाए.
ट्वीटों से मिटा देते हैं यह किसानों की दुर्दशा,
इनको है फेसबुक पे अमर होने की आशा.
सूखे पर जब पूछती है जनता टेढ़े मेढे सवाल,
तो कहते हैं सचमुच भगवान् ने बनाया ये हाल.
कोहिनूर की जबरन चोरी को बताते हैं भेंट,
इससे बड़े खुश हुए होंगे विलियम और केट.
अच्छे दिन बस हम सब रोज़ रोज़ देखेंगे,
वह ख़ूब ज़बरदस्त और लम्बे जुमले फेकेंगे,
अब न चल पायेगी भक्तों की उनके बिना,
बाक़ी सब बस बैठके दिन में तारे गिनना.

आज के संत बड़े कलावंत

आज कल दबंग संतो का बड़ा है बोल बाला,
इन्हें चाहिए गाये, गोबर, गौमूत्र, और गौशाला.
या फ़िर देसी पदार्थ हो जैसे कि पतंजलि,
जो अब मिले सबको हर कूचा और हर गली.
संतों का मन अब यह सोच के डोले,
के जोर से सब भारत माता की जय बोले.
और जो न बोले भारत माता कि जय,
बाबा रामदेव से जाके अपना सर कटाये.
अब बाबागण बनाएंगे वैदिक शिक्षा आयोग,
जहां वेदों का पठन होगा, और साथ में योग.
संस्कृति को यहां मिलेगी बस पूरी छूट,
बाबागण यहाँ बकेंगे संपूर्ण सांस्कृतिक झूठ.
यहां देंगे बाबाजी वेदों पर लम्बे लम्बे भाषण,
RSS कि चड्डीओं में समायेगा प्रशासन.